ਲ਼ਬੁ ਪਾਪੁ ਦੁਇ ਰਾਜਾ ਮਹਤਾ ਕੂੜ ਹੋਆ ਸਿਕਦਾਰੁ॥
ਕਾਮੁ ਨੇਬੁ ਸਦਿ ਪੁਛੀਐ ਬਹਿ ਬਹਿ ਕਰੁ ਬੀਚਾਰੁ॥
ਅੰਧੀ ਰਯਤਿ ਗਿਆਨ ਵਿਹੂਣੀ ਭਾਹਿ ਭਰੇ ਮੁਰਦਾਰੁ॥
(
ਗੁ.ਗ੍ੰ.ਸਾ., ਅੰਕ : 468-69)

18 January 2020
ਸਾਲ-10,ਅੰਕ:94, 18ਜਨਵਰੀ2020
दिल्ली में शहीदी-पुरब श्रद्धापूर्वक मनाया गया
30/05/2017 00:00:00 03:56 AM

दिल्ली में शहीदी-पुरब श्रद्धापूर्वक मनाया गया

जी.के. द्वारा गुरूकृपा के पात्र बनने का निमंत्रण

पांचवें पातशाह श्री गुरू अर्जुन देव जी का शहीदी दिवस दिल्ली की संगतों द्वारा बड़ी श्रद्धा भावना से मनाया गया। इस अवसर पर दिल्ली की सभी गुरुद्वारों में कीर्तन समागम हुए एवं ठंडे-मीठे जल की छबीलें लगाई गईं। मुख्य समागम दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी द्वारा गुरुद्वारा रकाबगंज साहिब के भाई लक्खीशाह वणजारा हाल में सुबह से देर शाम तक सजाया गया जिसमें पंथ प्रसिद्ध रागी, ढाडी जत्थों एवं कथावाचकों ने गुरबाणी के मनोहर कीर्तन तथा कथा विचारों के जरिये संगतों को निहाल किया।

इस अवसर पर कमेटी अध्यक्ष मनजीत सिंह जी.के. ने संगतों को संबोधित करते हुए गुरु अर्जुन देव जी के जीवन से संबंधित मुख्य घटनाओं का जिक्र किया। उन्होंने कहा कि सभी गुरू साहिबानों की सिक्ख पंथ को कुछ ना कुछ देन जरूर रही है। पांचवें पातशाह ने बाणी संकलण द्वारा आदि ग्रंथ की सम्पादना करके समस्त मानव जाति को सांझीवालता, प्रेम, भाईचारे का संदेश देकर बाणी से जोड़ा। जिसको बाद में खालसा पंथ की स्थापना के बाद गुरू गोबिन्द सिंह जी ने आदि ग्रंथ का दोबारा संपादन करके श्री गुरू ग्रंथ साहिब का रूप देकर बाणी एवं बाणे के संकल्प से जुड़ने का पंथ को संदेश दिया। इसलिए बाणी एवं बाणे से जुड़कर ही हम गुरू की कृपा के पात्र बन सकते हैं।

उन्होंने गुरुद्वारा ज्ञान गोदड़ी हरिद्धार का जिक्र करते हुए कहा कि 2019 में गुरूनानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व से पहले वहां गुरुद्वारा साहिब का निमार्ण हो जायेगा। इसके साथ ही जगन्नाथ पुरी में गुरूनानक देव जी द्वारा आरती उच्चारण के प्रतीक के रूप में सुशोभित गुरुद्वारा बाऊली साहिब भी जल्द ही सिख कौम के हवाले होगा।

राजस्थान में सिक्खों के साथ मारपीट करने वाले दोषियों के खिलाफ दिल्ली कमेटी द्वारा की गई पैरवी के चलते मुकद्दमा दर्ज होने की संगतों को जानकारी देते हुए उन्होंने मध्यप्रदेश के सिकलीघर सिक्खों के खिलाफ सरकारी दमन के तौर पर दर्ज हुए मुकद्दमों को वापिस लेने के लिए कानूनी स्तर पर पीड़ितों को कमेटी द्वारा हर प्रकार की सहायता देने का खुलासा किया। गुरुद्वारा रकाबगंज साहिब में बन रहे इन्टरनेशनल सेंटर फॉर सिक्ख स्टडीज का निमार्ण कार्य जल्द ही पूरा होने का भरोसा देते हुए जी.के. ने सिक्ख चेतना मिशन द्वारा करवाई गई प्रतियोगिता के विजेता बच्चों को ईनाम भी वितरित किये।